Jain Sanskar Vidhi

जैन संस्कार विधि JAIN SANSKAR VIDHI

वर्तमान समय में हमारे संस्कारों एवं संस्कृति की सुरक्षा चुनौतिपूर्ण बनती जा रही है। तेरापंथ समाज जैन संस्कृति से परिचित हों, दिखावे व आडम्बर से दूर रहकर विभिन्न लौकिक व्यवहारों में अपनी संस्कृति का प्रयोग करे, इस दृष्टि से अभातेयुप द्वारा जैन संस्कार विधि का प्रकल्प चलाया जा रहा है। आचार्यश्री तुलसी के शब्दों में जैन संस्कार विधि अल्प परिग्रह की दिशा में ले जाने का सार्थक प्रयास है। विभिन्न पर्व-त्यौंहार व सामाजिक कार्य आदि जैन संस्कार विधि से संपन्न हो, इस हेतु अभातेयुप ने पूरी रूपरेखा और अलग-अलग पर्व-त्यौंहार व सामाजिक कार्य का प्रारूप निर्धारित कर रखा है। विवाह, नामकरण, भूमिपूजन, उद्घाटन आदि समाजिक कार्यों में अभातेयुप जैन संस्कारक भेजकर निर्धारित विधि के अनुसार मंगल कार्य संपादित करवाती है। वर्तमान में तीन श्रेणियों- श्री, हृी, धी के अंतर्गत 325 अधिकृत जैन संस्कारक हैं।

National Convenor

Shreyans Kothari

+91 **********
National Co-Convenor

Rakesh Jain

+91 **********